ट्विस्टेड पेअर केबल क्या है ? – Twisted Pair Cable in Hindi

क्या आपने कभी LAN के बारे में सुना है? LAN एक ऐसा नेटवर्क है जिसमे बहुत सारे कंप्यूटर और नेटवर्क डिवाइस आपस में जुड़े हुए होते है। पर आपने कभी सोचा है कंप्यूटर और नेटवर्क डिवाइस को आपस में किसकी मदद से जोड़ा जाता है ? शायद कुछ लोग जानते होंगे पर जो नहीं  जानते वो ये आर्टिकल जरूर पढ़े। जो चीज़ कंप्यूटर और नेटवर्क डिवाइस को एक दूसरे से कनेक्ट करती है उसे कहते है Twisted Pair Cable.

ट्विस्टेड पेअर केबल क्या है ?

Twisted Pair Cable

Image source

वर्त्तमान समय में लेन नेटवर्क बनाने के लिए सबसे जायदा Twisted Pair Cable का उपयोग होता है| ट्विस्टेड केबल में कॉपर के तारो का उपयोग किया जाता है क्योकि कॉपर इलेक्ट्रिसिटी का अच्छा कंडक्टर है। ये कॉपर तार इंसुलेटेड होते है और इन पर प्लास्टिक की कोटिंग होती है। इनहे ट्विस्टेड पेअर केबल इसलिए कहते है क्योकि इसमें हर एक पेअर आपस में लिपटे हुए होते है। तारो के आपस में लिपटे होने के कारण यह डेटा को बहुत ही स्पीड़ से ट्रांसफर करते है।  ट्विस्टेड पेअर केबल का उपयोग डिफरेंट इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जैसे कंप्यूटर, स्कैनर, प्रिंटर, लैपटॉप आदि के बीच डाटा ट्रांसफर करके कम्युनिकेशन इस्थापित करने के लिए किया जाता है।

ट्विस्टेड पेअर केबल दो प्रकार की होती है

  • Unshielded Twisted Pair (UTP)
  • Shielded Twisted  Pair (STP)

1. Unshielded Twisted Pair

यह एक बहुत ही लोकप्रिय केबल है। इसका उपयोग बहुत सारे ईथरनेट नेटवर्क और टेलीफोन वायर में किया जाता है।  इस केबल में चार पेअर के वायर होते है।  एक पेअर में दो तरह के अलग अलग रंग के वायर होते है। Unshielded twisted pair केबल में 22 और 24 गेज के वायर एक दूसरे से ट्विस्ट किये  होते है।  यह केबल अन्य केबल से सस्ती होती है क्योकि इसमें कोई अन्य शील्ड का प्रयोग नहीं किया जाता।  इसका इस्तेमाल ज़्यदातर LAN (लोकल एरिया नेटवर्क ) में किया जाता है। UTP केबल ज्यादातर RJ-45 कनेक्टर के साथ इनस्टॉल किया जाता है। UTP को पहले सबसे स्लो ट्रांसफर मध्यम माना जाता था लेकिन समय के साथ इसे update किया गया और अब इसे सबसे fast कॉपर मध्यम माना जाता है।

UTP केबल की खाशियत:

  1. इसे इनस्टॉल करना बहुत ही आसान है।
  2. यह 10-100 mbps तक की स्पीड देता है।
  3. यह बहुत ही सस्ता होता है।
  4. इसके कनेक्टर का साइज सबसे छोटा होता है।
  5. कोई सामान्य नेटवर्क के बीच कम दुरी में जानकारियों का आदान प्रदान करना हो उसके लिए यह सबसे अच्छा विकल्प है।
  6. इसे संभालना और कनेक्ट करना बहुत ही आसान है।

UTP केबल के नुकसान:

  1. डाटा के सुरक्षित प्रसारण प्रदान करने में असमर्थ।
  2. डाटा ट्रांसमिशन reliable नहीं है।
  3. क्रॉस-टॉक अधिक होता है।
  4. बाहरी हस्तक्षेप ज़्यादा होता है।

Twisted pair cable

Image source

2. Shielded Twisted Cable

कंप्यूटर नेटवर्क बनाने के लिए सबसे ज़्यादा shielded ट्विस्टेड केबल का प्रयोग होता है। इसे दो कॉपर वायर को आपस में ट्विस्ट करके उसके ऊपर metallic foil कोट करके बनाया जाता है।  Shielded ट्विस्टेड केबल तीन techniques के मिलाप से बनी होती है वो है shielding, कैंसलेशन और वायर ट्विस्टिंग। STP केबल में एक्स्ट्रा कोटिंग की जाती है ताकि ये electromagnetic इंटरफेरेंस से बचा सके। एसटीपी का प्रयोग इकाइयो और रेडियो टावर के पास किया जाता है। STP कोस्टल और अन्य हस्तशेप में UTP से ज्यादा सुरक्षा प्रदान  करता है।

STP केबल की खाशियत:

  1. बाहरी हस्तक्षेप में सुरक्षा प्रदान करता है।
  2. इसमें डाटा लीक होने का खतरा नहीं  होता है।
  3. क्रॉसटॉक से बचाता है।
  4. UTP की तुलना मे अधिक स्पीड से जानकारी ट्रांसफर करता है।

STP केबल के नुकसान:

  1. यह UTP की तुलना में उससे थोड़ा महंगा होता है।
  2. इसे इनस्टॉल करना बहुत कठिन होता है।
  3. यह UTP की तुलना में थोड़ा मोटा और भारी होता है।

twisted cable

Image source

निष्कर्ष

इस article में आपने जाना Twisted Pair Cable क्या होती है, कितने प्रकार की होती है और इसके क्या क्या फायदे और नुकसान है। अगर आपको ये article पसंद आया और अगर कोई सवाल हो तव हमे comment section में जरूर बताये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *