Hardware or Software Mein Antar

Technology अब कोई मिस्ट्री नहीं रही है, जो की मुझे अब ये बताने की जरुरत नहीं है की आप और हम चारो तरफ से टेक पर डिपेंड है। तो ऐसे में इन केस आपको hardware और software और उनके बीच के difference को लेकर सवाल उठते रहते है, तो बेहतर है की हम उसको अच्छे से clear कर लें।

आज के समय में आप और आपके आस-पास के सारे लोग, इनके जरिये अपना काम कर रहे है। और दोनों इस सिस्टम के लिए उतना ही जरूरी है, जितना की फार्मर के लिए उसका फसल।

तो आज हम इस आर्टिकल में हम hardware और software और उनके बीच के difference को जानेगें।

Hardware or Software Mein Antar

Hardware

Hardware हम उन्ही physical parts को कहते है, जिन्हे हम देख और छू दोनों सकते है। और जब ये चीजें कम्प्यूटर्स और other technology पर आता है तो mouse, monitor, keyboard और CPU जैसे फिजिकल पार्ट्स को Hardware कहा जाता है।

हम यहाँ अच्छे से कुछ पॉइंट्स को नोट करेंगे।

  1. Hardware physical parts होते है। इन्हे इलेक्ट्रॉनिक्स कंपोनेंट्स पर बेस्ड किया गया है।
  2. हम कंप्यूटर में हार्डवेयर की मदद से सॉफ्टवेयर को कमांड देते है।
  3. हार्डवेयर पर वायरस का अटैक नहीं होता है।

Software

Software हम उन्ही virtual things को कहते है, जिन्हे हम देख तो सकते है, पर छू नहीं सकते। और जब इसे कप्यूटर, फोन्स के जरिये समझे तो हम Hardware के तरह कंप्यूटर के अंदर चलने वाला वीडियो, गेम्स या फिर कोई भी चीज हो उसे हम छू नहीं सकते।

  1. Software प्रोग्राम्स और डॉक्युमेंट्स का कलेक्शन होता है। जो की प्रोग्रामिंग लैंग्वेज पर रन करते है।
  2. हार्डवेयर से कमांड आने के बाद सारे काम सॉफ्टवेयर पर डिपेंड करता है।
  3. सॉफ्टवेयर पर वायरस का अटैक होता है।

Hardware or Software Mein Antar

Hardware Software
हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर को स्टोर करने और उसे चलाने के लिए जरुरी है। सॉफ्टवेयर की हेल्प से कंप्यूटर specific tasks करने में capable होते है।
सॉफ्टवेयर के लोड होने के बाद ही हार्डवेयर अपने फुल potential पर काम करते है। सॉफ्टवेयर को हार्डवेयर में install करके हार्डवेयर के कामों को आसान बनाते है।
हार्डवेयर नेचर में physical होते है।  सॉफ्टवेयर नेचर में वर्चुअल होते है।
हार्डवेयर के खराब होने के चान्स बहुत ज्यादा होता है। सॉफ्टवेयर के खराब होने का चान्स रहता तो है, पर हार्डवेयर के मुकाबले ये काफी लम्बे समय तक चलते है।
हार्डवेयर को हम देख और छू सकते है। सॉफ्टवेयर को केवल देख सकते है।
जैसे की- मॉनिटर, की-बोर्ड, माउस, ext. जैसे की- windows/mac, google, YouTube, ext.

निष्कर्ष

वैसे तो आप अभी जिस device से इस आर्टिकल को पढ़ रहे है, वो भी हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के components है। और अब ऐसा कोई भी कोना नहीं है जहाँ इन दोनों के उदाहरण नहीं मिलेगा। हालाँकि दोनों अलग-अलग छमताओं के साथ हमारे लाइफ को आसान बनाने में मदद करते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *