Laptop Kharidte Samay Kya Dekhna Chahiye?

क्या आपको एक Laptop लेना है और आप समझ नहीं पा रहे की कौन सा Laptop लेना चाहिए? आखिरकार आपको उस Laptop से किस तरह के काम करने है? और आपका budget कितने का है? कुछ इन्ही चीजों को समझ कर ही आप एक सही Laptop को choose कर सकते है। फिलहाल आपको इस आर्टिकल में भरपूर मदद दी जाएगी जिससे की आपको किस तरह अपनी जरूरत को समझना है ये पता रहे।

Laptop Kharidte Samay Kya Dekhna Chahiye

Make A Check List & Budget

आपको कोई भी device लेनी हो, सबसे पहला काम यही होना चाहिए की आप अपनी जरूरतों और budget की एक लिस्ट बना ले। आपको सबसे ज्यादा क्या-क्या जरूरी है। आपको उस लैपटॉप से क्या-क्या चाहिए। और आपका future प्लान क्या होने वाला है उसके साथ, ये बातें आप एक बार लिख लेंगे तो आपका आधा काम आप कर चुके है। और इससे आपकी समझ में आ जायेगा की हाँ ये-ये मेरी नीड है और x amount मेरा budget है।

अब जो भी आपका बजट बना हो उसके नीचे ही रहिये। जैसे की आपका बजट 50k का है और आपको 60k का लैपटॉप पसंद आता है। पर आपको अपने बजट को स्टेच करने की जरूरत नहीं है। आप 50k के बजट में ही रहिये।

Platform (Windows or Mac)

अधिकतर जिन्हे MAC लेना होता है उन्हें तो कोई confusion नहीं होती। तो इसके बारे में बात करने को कुछ नहीं रहा।

पर जिन्हे WINDOWS लेना है, हम उसके हर एक चीज के बारे में बात करेंगे। तो सबसे पहले जो जरूरी होती है उसे कहते है form factor.

Form Factor

इसका मतलब कितना बड़ा, कितना छोटा, कितना वजन और कितना पोर्टेबल लैपटॉप होना चाहिए। और ये सब उसके डिस्प्ले साइज पर डिपेंड करता है। जैसे की अगर आपको सिर्फ ऑफिस का काम करना है तो 13 या 14 इंच का display ढीक रहेगा। और इसकी वजह से ये हल्के और पोर्टेबल भी होता है। लेकिन अगर आपको गेमिंग और वीडियो एडिटिंग भी करनी है तो display थोड़ा बड़ा लगेगा और उसका वजन भी थोड़ा ज्यादा ही रहेगा।

वैसे तो आजकल पोर्टेबल और टच स्क्रीन लैपटॉप भी आ गए है। जिन्हे आप V सेप में रखकर मल्टी-मीडिया कंज्यूम कर पाएंगे। मतलब जो 360 डिग्री फोल्ड होते है वो useful है। पर अगर टच स्क्रीन की बात करे तो उससे कुछ फायदा नहीं होता। क्योंकि आप उसे ज्यादा use नहीं करेंगे और न ही जिसने लिया है वो उसको ज्यादा use करता है। तो आपको टच स्क्रीन लैपटॉप लेने की कोई जरूरत नहीं है। हाँ उसके बजाय आप 360 फोल्ड होने वाले लैपटॉप ले सकते है। क्योंकि वो वैल्यू फॉर मनी है।

और रिफ्रेश रेट में अगर आपको गेमिंग, वीडियो एडिटिंग करना या एक्शन मोविस को देखना पसंद है। तभी आप फास्ट रिफ्रेश रेट की तरफ रुख कीजिये। नहीं तो अगर आपको सिर्फ रेगुलर या ऑफिस वर्क्स करने है तो नॉर्मल 60 रिफ्रेश रेट आपके काम को स्मूथ रखेगा।

Display

अगर आप फोटो शॉप या वीडियो एडिटिंग करते हो जहां पर कलर बहुत इम्पोर्टेन्ट होते है तो कलर accuracy कितनी है इसे आपको चेक ही करना है। की उसका color gamut और SRGB का color gamut कम से कम 92% से 95% होना चाहिए। तब जाकर आपको कलर्स की accuracy मिलेगी। वर्ना आपको जो कलर लैपटॉप में दिखायेगा वो किसी और device में बिलकुल अलग होंगे, जो आपके काम को बुरा कर सकती है। इसीलिए आपको डिस्प्ले की कलर accuracy पर ध्यान देना होगा।

Web Cam & Microphone

ये चीज तो पहले से ही मिलती आ रही है। पर इसकी क्वालिटी भी अच्छी होनी चाहिए। क्योंकि आजकल ऑनलाइन क्लास, जूम कॉल, गूगल मीट जैसे कई सारी चीजें ऑनलाइन मीटिंग में इस्तेमाल होती है। उसके लिए वेबकैम और माइक्रोफोन दोनों का अच्छी क्वालिटी का होना बहुत जरूरी है। और आजकल कई सारे लैपटॉप्स में तो दो या तीन माइक्स आते है। उनमे से एक आपके आवाज से नॉइस को कैंसल करता है। जो नॉइस कैंसलेसन माइक होता है। जिससे आपकी वॉइस काफी अच्छी हो जाती है और साफ के साथ ही अच्छी क्वॉलिटी में रहती है। तो आपको इन दोनों पर ध्यान रखना होगा।

Build Quality

Build क्वालिटी एक ऐसी चीज है जिसपर हम ध्यान नहीं देते। कई बार हम सस्ते के चलते किसी सस्ते ब्रांड का लैपटॉप ले लेते है जिसमे उनकी बिल्ड क्वालिटी चीप होती है। जो बाद में छोटे से एक्सीडेंट से ही टूट सकता है। मतलब की जितना आपने उस सस्ते ब्रांड के चलते बचाया है, उतना आपका उसको रिपेयर कराने में लग जायेगा। तो इससे अच्छा है की आप एक नामी ब्रांड का लैपटॉप ही ले।

Ports

सबसे पहले तो मै ये बोलूंगा की आजकल आपको सी डी ड्राइव की जरूरत नहीं है। पेनड्राइव जैसी सस्ती चीजो के कारण इसके होने या फिर न होने से कोई फर्क नहीं पड़ता। लेकिन अगर आपको कुछ देखना है तो वो है USB type c ports कम से कम एक तो रहना ही चाहिए। और नार्मल जो USB ports होते है वो कम से कम दो से तीन होना ही चाहिए। और अगर इनमे से एक पोर्ट फास्ट USB 3.0 पर होगा तो और बेहतर है। जिससे अगर आपको डाटा ट्रांसफर करना होगा तो आपका बहुत टाइम बचेगा। और HDMI पोर्ट भी होना चाहिए ताकि फ्यूचर में आप एक बड़ी और अच्छी स्क्रीन लगाना चाहें तो कोई दिक्कत न हो।

Audio & Video

अगर आप मूवीज वगैरह बहुत देखने वाले हो तो मै suggest करूँगा की आप अलग से स्पीकर्स या हेडफोन्स खरीद लें। क्योंकि अक्सर कोई भी लैपटॉप का ऑडियो इतना लाउड नहीं होता की आप उसे आराम से फील कर पाएंगे। 3.5mm जैक, बड़ी डिस्प्ले और color accuracy पर ध्यान देना ही होगा अगर आप मूवीज या कोई भी मल्टीमीडिया कंज्यूम करने वाले है। और ये जाहिर सी बात है की आप के पास जब लैपटॉप होगा तो मूवी को उसी में देखने वाले है। तो आप इनपर ध्यान दे।

Connectivity

Connectivity ही आपके लैपटॉप के एक्सपीरियन्स को आसान बनाता है। तो आप ये चेक कर लें की आपका Wi-Fi 6 न सही तो Wi-Fi 5 तो होना ही चाहिए। और Bluetooth 5.0 भी होना चाहिए। Bluetooth 4.0 Bluetooth 4.5 को भी न ही कहे तो ही बेहतर रहेगा।

OS

OS आपका windows 10 home addition होगा तो भी चलेगा। पर windows 10 pro या windows 11 के होने पे बेटर रहेगा। या फिर आप DOS लैपटॉप लेकर उसमे बाद में windows को install कर सकते है। इससे बस होगा ये की आपको वही लैपटॉप 4 से 5 हजार तक सस्ता मिल जायेगा। पर अगर आपके पास पहले से कोई जेनुअन windows नहीं है तो बेहतर है की आप नॉर्मल लैपटॉप ही ले।

Keyboard

डिस्प्ले के बाद सबसे ज्यादा अगर किसी का इस्तेमाल होता है तो वो है आपका की-बोर्ड। अगर आप बहुत ज्यादा टाइपिंग करने वाले हो तो ध्यान दें की key size और keys के बीच की distance सही से है की नहीं। अगर बहुत ही पास-पास होंगे तो आपको टाइपिंग में प्रॉब्लम होगी। तो इस बात का ध्यान रखे की keys ज्यादा पास न और न ही बहुत दूर-दूर हो। हाँ अगर आप अलग से कीबोर्ड use करने वाले है तो इसमें कोई दिक्कत नहीं है। पर आपको इन बातों का ध्यान रखना जरूरी है।

Battery

आप जो भी लैपटॉप लेने जा रहे है उस ब्रांड ने जितना बोल रखा होगा की ये लैपटॉप 10/11/ 9 घंटे चलेगा। पर आप बताये गए 100% से 40% तक घटा ले और फिर देखें की लैपटॉप कम से कम 4 घंटे की बैटरी बैकअप रखती है या नहीं। क्योंकि उनका कहने के हिसाब से वो लैपटॉप नार्मल कंडीशन में 10 घंटे चलेगा पर जब आप उसे रेगुलर कंडीशन में use करेंगे तो वो ज्यादा से ज्यादा 6 घंटे की चलेगा। तो आप इस 100% और 40% का फंडा याद रखें और इसे अप्लाई भी करें।

और आजकल के लैपटॉप में फास्ट चार्जिंग का सपोर्ट भी आने लगा है। अगर आपके लैपटॉप के साथ फास्ट चार्जर नहीं आ रहा हो तो ध्यान रखें की वो कम से कम फास्ट चार्जिंग को सपोर्ट करता हो। जो आपके लैपटॉप को 40 से 50 मिनट में पूरा चार्ज कर देगा। जोकि आप 5, 6 घंटे और काम करने के लिए बहुत होगा।

Storage

Storage की बात करे तो ये आपके बजट पर डिपेंड करेगा। क्योंकि अगर आपका बजट 25 से 35 हजार के लैपटॉप में आपको HDD मिलेगा, और अगर आपका बजट 40 हजार से ऊपर के लैपटॉप में आपको SDD मिलेगा। बेसिकली HDD की रन करने की स्पीड कम होती है और SDD की स्पीड तेज होती है। और HDD में मूविंग पार्ट्स होते है जो की खराब भी हो सकते है। पर SDD में कोई मूविंग पार्ट नहीं होता जोकि उसकी लॉन्ग लाइफ का कारण बन जाता है। हो सके तो SSD वाला लैपटॉप ही ख़रीदे ताकि डेटा रीड राइट प्रोसेस फ़ास्ट रहे।

Processor

पिछले कुछ सालो में AMD के प्रोसेसर काफी अच्छे और बजट फ्रेंडली हो गए है। हालांकि intel के प्रोसेसर तो हमेशा से ही अच्छे रहे है। लेकिन intel के प्रोसेसर इतने पावर efficient नहीं होते है। क्योंकि intel के 6 या 7 generation के प्रोसेसर 14 या 12 nm पर बेस्ड है। पर ये काफी लम्बे समय तक स्टेबल भी रहते है। तो अगर आप intel का प्रोसेसर ले रहे है तो try करिये की लेटेस्ट generation का प्रोसेसर हो। पर वहीं AMD के प्रोसेसर की बात करे तो Ryzen 3, Ryzen 5, Ryzen 7 या Ryzen 9 ये सब काफी power efficient प्रोसेसर है।क्योंकि ये 7nm पे बेस्ड होते है। पर इसका एक ड्रा बैक भी है, ये हीट बहुत होते है।

तो अगर आप बहुत वीडियो एडटिंग या गेमिंग का लोड नहीं डालने वाले तो आप AMD के Ryzen series के प्रोसेसर ले। और अगर आप बहुत ज्यादा ही वीडियो एडटिंग या गेमिंग का लोड देने वाले है तो आप intel के प्रोसेसर ले। पर intel के प्रोसेसर अपने स्टेबिलिटी के कारण थोड़े महँगे आते है।

RAM

अगर आप कम से कम 30 to 35 हजार का भी लैपटॉप ले रहे हों। तो उसका RAM कम से कम 8gb का तो होना ही चाहिए। और ये तो नार्मल use वालों के लिए है। अगर आप गेमिंग या वीडियो एडिटिंग करने वाले हो तो आपको 16gb या फिर 32gb तक जाना चाहिए। और अगर आपका बजट हो तो 64gb सबसे बेस्ट ऑप्शन होगा।

Graphics Card

अगर आप गेमिंग या वीडियो एडिटंग नहीं करने वाले तो आपको बिना डेडिकेटेट ग्राफिक कार्ड के भी चल जायेगा। पर जैसे की मैंने कहा की अगर आप गेमिंग या बहुत ज्यादा वीडियो एडिटिंग करने वाले हो तो आपको डेडिकेटेट ग्राफिक कार्ड पर फोकस करना चाहिए। और हो सके तो लेटेस्ट ग्राफिक कार्ड ही सेलेक्ट करें, लेकिन ज्यादा लेटेस्ट के चक्कर में बजट 1 लाख तक भी जा सकता है। तो अपने बजट के हिसाब से लेटेस्ट ग्राफिक कार्ड को चुने।

Upgradability

आपको लास्ट चीज उसके upgradability पर ध्यान देना है। इसका मतलब है की अगर आपने बजट के चलते 8gb RAM का लैपटॉप लिया और अब आपको और RAM की जरूरत है तो आपके लैपटॉप की RAM उसमे सोल्डेड नहीं होनी चाहिए। ताकि जरूरत पर आप 16gb या फिर 32gb जितना भी आप upgrade करना चाहे कर सके।

Service Station

अब आप ये ध्यान में रखें की आप जिस लैपटॉप को ले रहे है उसका Service Station आपके पहुँच में है या नहीं। ताकि अगर आपको कुछ प्रॉब्लम होती है लैपटॉप को लेकर तो आप उसे Service Station पर ले जाके सही करवा सके। और warranty वगैरह पर भी ध्यान रखें, कम से कम 1 साल की warranty तो होनी ही चाहिए।

निष्कर्ष

अगर आप इन चीजों को ध्यान में रखेंगे तो आप अपनी पसंद का एक अच्छा लैपटॉप ले सकेंगे। तो ऊपर बताई गयी एक-एक टॉपिक को समझ कर आप अपनी लिस्ट बना ले और लैपटॉप को buy करे। अगर आपके दिमाग में किसी भी तरह का कोई सवाल हो तो कमेंट बॉक्स में जरूर पूछे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *