Jeremy Lalrinnunga Biography in Hindi

जेरेमी लालरिनुंगा एक भारतीय वेटलिफ्टर हैं जोकि मिजोरम के आइज़ोल के रहने वाले हैं। 2022 कामनवेल्थ गेम्स में 67 किलोग्राम भार केटेगरी में 140 किलोग्राम स्नैच तथा 160 किलोग्राम क्लीन एंड जर्क में रिकॉर्ड बनाने के साथ गोल्ड मैडल जीतकर देश का नाम रोशन किया। उन्होंने 2018 समर युथ ओलंपिक्स में बुएनोस एरेस में भारत को रिप्रेजेंट किया था।जेरेमी ने बॉयज 62 किलोग्राम भार केटेगरी स्नैच में 124 किलोग्राम तथा क्लीन एंड जर्क में 150 किलोग्राम टोटल 274 किलोग्राम वेट लिफ्ट करके गोल्ड मेडल जीता।

युथ ओलंपिक्स गेम्स में भारत का यह पहला गोल्ड मेडल था। जेरेमी ने एशियाई वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल अपने नाम किया। 2019 वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप मेंस 67 किलोग्राम भार केटेगरी में 21वीं रैंक हासिल की। 2022 कामनवेल्थ गेम्स में 67 किलोग्राम भार केटेगरी में 140 किलोग्राम स्नैच तथा 160 किलोग्राम क्लीन एंड जर्क में रिकॉर्ड बनाने के साथ गोल्ड मैडल जीतकर देश का नाम रोशन किया।

Jeremy Lalrinnunga

शुरूआती जीवन

जेरेमी लालरिनुंगा का जन्म 26 अक्टूबर वर्ष 2002 को मिजोरम के आइज़ोल शहर में हुआ। इनके पिता का नाम Lalneihtluanga जिन्होंने पहले बॉक्सिंग में पहले भाग लिया था। 1990 के दशक में Lalneihtluanga ने नेशनल जूनियर बॉक्सिंग चैंपियनशिप जीती और लगातार 6 वर्षो के लिए unbeaten रहे। सबको लगता था की एक दिन ये बड़े बॉक्सर बनेंगे तथा इस खेल को भारत का सम्मान दिलाएगा। किन्ही वजहों से ऐसा न हो सका। जेरेमी की इच्छा थी की वह वेटलिफ्टिंग को अपने प्रोफेशन के रूप में चुनें तथा उनके पिता ने हर कदम पर उनका साथ दिया।

नाम  जेरेमी लालरिनुंगा
पिता  Lalneihtluanga
जन्मवर्ष  26 अक्टूबर वर्ष 2002
जन्मस्थान  मिजोरम
प्रोफेशन  वेटलिफ्टिंग
हाइट  5 फिट 5 इंच
वेट  67 kg

करियर

वर्ष 2011 में जेरेमी के कोच Malsawma Khiangte ने आर्मी स्पोर्ट्स इंस्टीटूट्स ट्रायल्स में पार्टिसिपेट करने के लिए प्रेरित किया। जेरेमी ने वर्ल्ड युथ चैंपियनशिप में सिल्वर मैडल जीता। जेरेमी ने लगातार 2017 वर्ल्ड चैंपियनशिप तथा 2018 एशियाई चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीते। जेरेमी ने अपने प्रोफेशनल लाइफ में मेटेरोइक राइज देखी है इनका प्रत्येक प्रदर्शन पहले की तुलना में बेहतर रहा है। जेरेमी वर्ष 2018 में पुरुषों के 62 किलोग्राम भार केटेगरी में युथ ओलिंपिक में गोल्ड जीतने वाले पहले भारतीय हैं। जेरेमी अपनी अगली परफॉर्मन्स के लिए कड़ी मेहनत कर रहे थे इससे की वे ओलिंपिक 2020 में पार्टिसिपेट कर सके। वेटलिफ्टर जोकि अभी केवल 16 वर्ष का था किसी भी प्रकार की इंजरी तथा विवाद से बचने का प्रयास किया। सबको यह विश्वास था की जेरेमी गोल्ड लेकर जरूर आएगा।

अवार्ड्स

  • 2022 कामनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल
  • 2018 Boys 62 kg category में गोल्ड मेडल
  • 2016 youth world championship में सिल्वर मेडल
  • 2016 Asian youth championship में सिल्वर मेडल

Leave a Reply

Your email address will not be published.