Sakshi Malik Biography in Hindi

साक्षी मलिक एक भारतीय फ्रीस्टाइल रेसलर हैं। वह 58 किलोग्राम भार केटेगरी में ब्रोंज मेडल जीती थी तथा ओलिंपिक में मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला रेसलर बनीं। वह अपनी फीमेल रेसलर विनेश फोगाट, गीता फोगाट तथा बबिता कुमारी JSW स्पोर्ट्स एक्सीलेंस प्रोग्राम का हिस्सा बनीं। साक्षी मलिक पहले 2014 कामनवेल्थ गेम्स ग्लासगो में सिल्वर मैडल तथा 2015 एशियाई रेसलिंग चैंपियनशिप दोहा में ब्रोंज मैडल जीतीं हैं। अब 2022 कामनवेल्थ गेम्स बिर्मिंघम में गोल्ड जीतकर देश का नाम रोशन किया।

शरुआती जीवन

साक्षी मलिक का जन्म 3 नवंबर वर्ष 1992 को हरियाणा के रोहतक जिले के मोखरा गांव में हुआ था। इनके पिता का नाम सुखबीर मलिक था जोकि एक बस कंडक्टर तथा इनकी माँ का नाम सुदेश मलिक था जोकि लोकल हेल्थ क्लिनिक में सुपरवाइजर थी। उनके पिता के अनुसार साक्षी उसके दादा बदलू राम से मोटीवेट हुई जोकि पहले रेसलर थे।

साक्षी ने 12 वर्ष की उम्र में रेसलिंग के लिए ट्रेनिंग कोच ईश्वर दहिया द्वारा रोहतक के छोटू राम स्टेडियम में शुरू किया। वहाँ चार लोग कुलदीप मालिक, ईश्वर दहिया, मनदीप सिंह, राजबीर सिंह ऐसे है जो खुद को साक्षी का कोच बताते हैं। बाद में साक्षी ने खुद बताया की ईश्वर दहिया तथा मनदीप सिंह उनके कोच रह चुके हैं।

Sakshi Malik Biography in Hindi

नाम  साक्षी मलिक
पति  सत्यवर्त कादयान
माता  सुदेश मलिक
पिता  सुखबीर मलिक
जन्मस्थान  हरियाणा के रोहतक जिले के मोखरा गांव
जन्मवर्ष  3 नवंबर वर्ष 1992
प्रोफेशन  रेसलर
सिटीजन  भारतीय

करियर

साक्षी मलिक को इंटरनेशनल में एक प्रोफेशनल रेसलर के रूप में पहली सफलता वर्ष 2010 में जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप में मिली जहाँ उन्होंने 58 किलोग्राम केटेगरी में फ्रीस्टाइल इवेंट में ब्रोंज मेडल जीता। वर्ष 2014 में देव शुल्त्ज इंटरनेशनल टूर्नामेंट में 60 किलोग्राम भार केटेगरी में गोल्ड मेडल जीता। इसके बाद वह कभी नहीं रुकी तथा गेम के लिए डेडिकेशन को बरक़रार रखा। वर्ष 2015 में एशियाई चैंपियनशिप दोहा में तीसरे स्थान पर रहीं तथा ब्रोंज मैडल जीता।

वर्ष 2016 में रिओ ओलंपिक्स में वह ब्रोंज मैडल जीतीं तथा ओलिंपिक मैडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला रेसलर बनीं। वर्ष 2017 में साक्षी मलिक ने कलर्स दिल्ली सुल्तांस को प्रो रेसलिंग लीग के दुसरे एडिशन में रिप्रेजेंट किया। वर्ष 2022 में साक्षी मलिक ने ओसर दोगु टूर्नामेंट में कम्पीट किया जोकि इस्तांबुल में आयोजित किया गया था। 2022 टुनिस रैंकिंग सीरीज इवेंट में ब्रोंज मैडल जीता। वर्ष 2022 में ही बर्मिंघम में आयोजित कामनवेल्थ गेम्स में गोल्ड जीतीं।

व्यक्तिगत जीवन

साक्षी मलिक प्रेजेंट में इंडियन रेलवे के दिल्ली मंडल के कमर्शियल डिपार्टमेंट, उत्तर रेलवे में कार्यरत हैं। तथा वह JSW स्पोर्ट्स एक्सीलेंस प्रोग्राम का हिस्सा हैं। रिओ ओलिंपिक में ब्रोंज मैडल जीतने के बाद उन्हें सीनियर क्लर्क से गज़ेटेड ऑफिसर रैंक में प्रोमोट किया गया था। सितम्बर वर्ष 2016 में साक्षी ने महर्षि दयानन्द यूनिवर्सिटी से फिजिकल एजुकेशन से मास्टर्स कम्पलीट किया। साक्षी मलिक यूनिवर्सिटी के रेसलिंग डायरेक्टर के रूप में अप्पोइंट की गयीं।

रिओ ओलिंपिक के बाद साक्षी ने एक इंटरव्यू के दौरान सत्यवर्त कादयान से engaged होने की बात बताई। सत्यवर्त कादयान भी भारतीय रेसलर हैं जिन्होंने एशियाई गेम्स तथा कामनवेल्थ में मेडल्स जीते हैं। 2 अप्रैल वर्ष 2017 में सत्यवर्त कादयान से शादी कर ली।

अवार्ड्स

  • पद्म श्री
  • मेजर ध्यानचंद खेल रत्न
  • “ग्लोबल इंडियंस 2022” में 25 नोटेबल पर्सनालिटीज के लिस्ट में साक्षी मलिक भी एक हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.