Hima Das Biography in Hindi

हिमा दास को ढिंग एक्सप्रेस के नाम से भी जाना जाता है, यह एक भारतीय धावक हैं। इन्होने 50.79 सेकंड समय के साथ 400 मीटर में वर्तमान रिकॉर्ड बनाया जो की वर्ष 2018 के एशियाई गेम्स इंडोनेशिया के जकार्ता में हुआ था। हिमा दास IAAF U20 चैंपियनशिप में ट्रैक इवेंट में गोल्ड मैडल जीतने वाली पहली भारतीय खिलाडी हैं। वह स्टेट के इंटीग्रेटेड स्पोर्ट्स पॉलिसी के अंडर असम पुलिस में DSP पद पर कार्यरत हैं।

शुरूआती जीवन

हिमा दास का जन्म 9 जनवरी वर्ष 2000 में असम के ढिंग शहर के कंधुलीमारी नामक गांव में हुआ। इनके पिता का नाम रंजीत दास तथा माता का नाम जोनली दास है। इनके माता पिता किसान थे। वह असामी परिवार के कैबर्ता कम्युनिटी से सम्बन्ध रखती हैं। वह अपने पांच भाइयों बहनो में सबसे छोटी थी। उन्होंने ढिंग पब्लिक हाई स्कूल में दाखिला लिया तथा कक्षा पांच में नवोदय प्रवेश परीक्षा क्लियर करके जवाहर नवोदय विद्यालय में दाखिला लिया।

शुरुआत में उन्हें फुटबॉल रूचि थी। वह JNV स्कूल में लड़को के साथ फुटबॉल खेला करती थी और फुटबॉल में ही अपना करियर बनाना चाहती थी। पर उन्होंने भारत में महिला फुटबॉल परिदृश्य में अपने लिए सम्भावना नहीं देखी। बाद में JNV स्कूल के फिजिकल एजुकेशनल टीचर के सलाह से धावक बनने के लिए प्रेरित हुई। वह मई वर्ष 2019 में उन्होंने 12वीं पास हुई। अब वह असम के कॉटन यूनिवर्सिटी से बी.ए कर रही हैं।

Hima Das Biography in Hindi

नाम  हिमा दास
जन्मदिवस  9 जनवरी वर्ष 2000
माता  जोनली दास
पिता  रंजीत दास
जन्मस्थान  असम
प्रोफेशन   भारतीय धावक
लम्बाई  167 CM
वजन  54 KG
उम्र  22

करियर

अप्रैल वर्ष 2018 में हिमा दास ने ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट 2018 कामनवेल्थ गेम्स में 400 मीटर और 1600 मीटर रिले में भाग लिया। 12 जुलाई वर्ष 2018 में हिमा दास ने फ़िनलैंड में आयोजित वर्ल्ड U-20 चैंपियनशिप 2018 में 51.46 सेकंड समय में 400 मीटर फाइनल जीता। और इंटरनेशनल इवेंट में गोल्ड मैडल जीतने वाली पहली भारतीय धावक बनी। वर्ष 2018 में एशियाई गेम्स में हिमा दास ने 51 सेकंड के समय लेकर 400 मीटर फाइनल के लिए क्वालीफाई किया। और एक नया इंडियन नेशनल रिकॉर्ड बनाया।

26 अगस्त वर्ष 2018 में हिमा दास ने 50.79 सेकंड में 400 मीटर पूरा किया हालाँकि वह सिल्वर मैडल ही जीत सकी। हिमा दास ने वर्ष 2019 में पोजनान ग्रैंड प्रिक्स 200 मीटर 23.65 सेकंड में पूरा करके गोल्ड जीता। 13 जुलाई को 23.43 सेकंड में चेक रिपब्लिक में गोल्ड मैडल अपने नाम किया। 20 जुलाई वर्ष 2019 को उसने एक महीने में अपना तीसरा गोल्ड चेक रिपब्लिक में तथा पांचवा गोल्ड नोवे मेस्टो में जीता। 27 फरवरी वर्ष 2021 में वह स्टेट के इंटीग्रेटेड स्पोर्ट्स पॉलिसी के अंडर असम पुलिस में DSP पद पर कार्यरत हैं।

अवार्ड्स

  • हिमा दस के खेल जगत में इतने अच्छे प्रदर्शन के कारण 25 सितम्बर 2018 को राष्ट्पति द्वारा अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.