गूगल क्या है? – What is Google in Hindi

गूगल अमेरिका की एक इंटरनेशनल पब्लिक कंपनी है, जिस कंपनी में इंटरनेट से जुड़े सरे कार्य होते है जैसे की इंटरनेट सर्च, क्लाउड कंप्यूटिंग तथा विज्ञापन सेवाएँ उपलब्ध कराना। हम इसकी कमाई की बात करे तो यह विशेष रूपसे  विज्ञापनों को दिखा कर कमाई करती है। लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन ने इस कंपनी को बनाया जब वह अपनी पी० एच० डी०  की पढ़ाई स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से कर रहे थे। इनको “गूगल गाइस” नाम से जाना जाता है।

4 सितम्बर 1998 को इसको Privately held कंपनी बनाया। 19 अगस्त 2004 को इस कंपनी को पब्लिक कार्य/सेवा के लिए चालू किया गया। लैरी पेज, सर्गेई ब्रिन और एरिक स्ख्मिड्ट ने 19 अगस्त 2004 को कहा की 20 साल हम मिलकर काम करेंगे। कंपनी का मुख्यालय बदल कर 2006 को Mountain View, California में कर दिया।

गूगल का इतिहास (History of Google)

जैसे की हमने अभी बात की हम गूगल कंपनी को 1998 से जानते है जिसको लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन द्वारा लांच किया गया था, जो अब वर्ड में सबसे ज्यादा यूज होने वाला सर्च इंजन है। इस प्रोजेक्ट की शुरुवात 1996 में हुई जब कैलिफोर्निया में स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के दो स्टूडेंट लैरी पेज, सेर्गेई ब्रिन और विश्वविद्यालय के छात्रों ने स्कॉट हसन और एलन स्टरेमबर्ग की मदद से “BackRub” नामक सर्च एल्गोरिथ्म बनाया था। जो आगे चलके गूगल बना और आज के टाइम में बहुत तेजी के साथ इस्तेमाल हो रहा है।

2015 में Alphabet Inc. को Google की और उससे जुडी दूसरी सारी कंपनियों की parent कंपनी बनाया गया।

गूगल प्रोडक्ट्स (Google Products)

गूगल प्रोडक्ट्स (Google Products)

Image Source

अगर हम गूगल प्रोडक्ट्स की बात करे तो इस लिस्ट में 250 से भी ज्यादा प्रोडक्ट्स है। आईये हम इसके कुछ सबसे पॉपुलर प्रोडक्ट्स के बारे में थोड़ी जानकारी ले।

गूगल क्रोम (Google Chrome): यह एक वेब ब्राउज़र है जिसकी मद्द्त से हम कोई जानकारी सर्च कर सकते है। यह फ़ास्ट सर्च करने का गूगल का एक सॉफ्टवेयर और सर्च ब्रॉउजर है।

गूगल अकाउंट (Google Account): यह एक प्रकार का यूजर अकाउंट है जिसकी मदद से हम गूगल के सभी सर्विसेज का इस्तेमाल एक ही अकाउंट से कर सकते है जैसे gmail, youtube, google maps, आदि।

यू यूटूब (YouTube): यह दुनिया का सबसे famous वीडियो प्लेटफार्म है। इस पर हम वीडियो को देख सकते है और हम अपनी वीडियो को अपने अकाउंट पर अपलोड कर सकते है। यह वेबसाइड सारी सेवा फ्री देती है और इसे गूगल ने 2006 में $1.65 बिलियन अमेरिकी डॉलर में खरीद लिया था।

एडसेंसे (Adsense): यह गूगल का एक प्रोडक्ट है जिसके जरिए लोग वेबसाइड या वीडियो पर ad लगा कर पैसा कमाते है। इसकी कुछ शर्त है जिसको आप मानते हो तो आप इससे पैसे कमा सकते हो।

जीमेल (Gmail): यह भी गूगल का ही प्रोडक्ट है इस पर आप एक मेल बना कर उसके जरिए ईमेल भेज और पा सकते हो। यह एक बहुत आसान तरीका है जानकरी को अदला-बदली करने का। जीमेल एक गूगल जीएफई GFE सर्वर पर कार्य करता है।

गूगल के सभी प्रोडक्ट से जुडी ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें।

गूगल सर्च कैसे काम करता है? (How Does Google Search Works)

गूगल किसी भी जानकारी को जल्दी से जल्दी देने की कोशिस करता है। गूगल के काम करने की बात करे तो, गूगल तभी काम करना शुरू कर देता है जब आप सर्च बॉक्स में कुछ लिखते हो। लेकिन क्या आपने यह सोचा है कि गूगल किस माध्यम से रिजल्ट पेश करता है?

अगर नहीं, तो आइये जानते है गूगल सर्च इंजन का प्रोसेस:

गूगल की एक algorithm हे, और वह उसपे काम करता है। इस algorithm का नाम है “Crawling and  Indexing”.

Crawl करने का तरीका वेबसाइड पर काम करने वाले जब sitemap बनाते है, तो गूगल उस sitemap को देखता है। फिर यह इसके लिंक वाले पेज पर जाकर उस पेज की साडी चीज़ो को पड़ता है। और तो और, यह site में हो रहे बदलाव पर भी खाश ध्यान देता है। इसके उपरान्त, कंप्यूटर प्रोग्राम यह निर्धारित करते है की इसको कितनी बार crawl करना है और सभी site के पेज पर जाना है।

working of a search engine

जब आप कुछ भी सर्च करते हो तो सोचते हो की यह सर्च, एक algorithm करता है। लेकिन इसका तरीक कुछ अलग है, यह आप के शब्दों को विश्लेषण करना, खोजे गए शब्द पर विचार करना, आप के जरिए खोजे गए शब्द मिलान करना, उस टॉपिक से जुडी जानकारी को रैंक देना, और सबसे बेहतर रिजल्ट प्रदान करना।

जब आप गूगल पर कुछ सर्च करते है तो वो अपने आप ही स्पेलिंग मिस्टेक को पकड़ कर उसमे सुधर करके आपको रिजल्ट प्रदान करता है। अथवा यह हमारी भाषा तथा सेटिंग पर ध्यान रखता है।

गूगल अपने उपभोक्ताओं को मुफ्त और सही रेजेल्ट देने की कोशिश करता है। गूगल वेबसाइट के मालिकों के कारोबार को आगे बढ़ाता है और उन्हें उनके कार्य के आधार पर रैंक देता है। गूगल हर साल बल्कि हर दिन उपयोग करने वाले को सुविधा देने की कोशिश में रहता है। और इसका आखरी उद्देश्य है की इसे कितना सरल बनाया जा सके।

गूगल का उपयोग कौन कर सकता है? (Who Can Use Google)

गूगल का उपयोग कोई भी व्यक्ति कर सकता है। गूगल ने किसी के लिए कोई भी प्रतिबंध नहीं लगया है। और तो और, आपको वह सारी जानकारी देगा जो इंटरनेट पर है। यह सेवा फ्री और सबके उपयोग के लिए निर्धारित है, ताकि आप उसके साथ काम भी कर सके, वह भी फ्री में इसका कोई चार्ज नहीं है। गूगल के कुछ रूल्स आपको फॉलो करने होते है, तभी गूगल अपने साथ काम करने की अनुमति देता है।

गूगल को गूगल क्यों कहा जाता है? (Why is Google called Google)

गूगल के फाउंडर ने पहले इसका नाम गोगोल रखा था, लेकिन कुछ कमी के वजह से इसका नाम गोगोल से गूगल रखा गया। गूगल का नाम गणितीय भूगोल संख्या से लिया गया है। गोगोल एक geographic math है, जिसका अर्थ यह है की 1 संख्या के पीछे सौ शुन्य (0).

इसी आधार पर इसका नाम गूगल रखा गया ताकि किसी भी यूजर को एक नहीं बल्कि सौ से भी ज्यादा रिजल्ट मिले। गूगल के फाउंडर ने इस नाम को रखने का इसीलिए सोचा था क्योंकि यह हमे 100 रेज़ल्ट देनी की कोशिस करता है। गूगल के फाउंडर ने जो सोचा वह आज गूगल हमें दे रहा है।

क्या आप जानते हैं कि Google कब बिक्री पर था? (Do You Know When Google Was on Sale)

1999 में गूगल के फाउंडर ने कंपनी को बेचने के लिए एक्साइट कंपनी के सीईओ जॉर्ज बेल से मिले। तब गूगल के फाउंडर ने 1 इसे मिलियन डालर में बेचने का निर्णय लिया था। लेकिन जॉर्ज बेल ने इस कंपनी को लेने से इंकार कर दिया। कहते है की यह कंपनी जब चालू हुई तो इसमें फाइदा बहुत कम था। इस लिए इस कंपनी को बेचने के लिए गूगल के फाउंडर ने सोचा था।

आज के टाइम में गूगल ही क्यों? (In Today’s Time, Why Only Google)

आज के टाइम में गूगल टॉप पर 2015 से ही बना है क्योकि यह हमें वह सारी सुविधा प्रदान करता है, जो हमारी जानकारी से जुडी है। आज के टाइम में 40% भारतीय गूगल में काम करते है।  देखो गूगल ने तो हर जगह अपने को बढ़ावा दिया जैसे – आफिस, घर, कंपनी, मौसम विभाग आदि।

गूगल जो आप को सेवा प्रदान कर रहा है। आप उसका दुरुपयोग न करो। गूगल की सेवाओं में बाधा न करो, नहीं तो गूगल अपनी खास प्रोडक्ट की सुविधा देना बंद कर देता है। जिससे आप गूगल का पूरी तरह उपयोग नहीं कर पायेंगे। गूगल एकमात्र ऐसा प्लेटफार्म है जो विश्व में हर जगह फैला हुआ है।

में आशा करता हु की इस पोस्ट को पढ़कर गूगल क्या है इस बारे में आपको अच्छी जानकारी मिली होगी। अगर फिर भी आपके दिमाग में कोई प्रशन हो तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.