नूपुर शर्मा: पैगम्बर मोहम्मद पर कथित विवादित टिप्पणी, मुस्लिम देशों का विरोध जानें पूरा सच

पैगम्बर मोहम्मद पर कथित विवादित टिप्पणी के मामले में नूपुर शर्मा की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही है। कई ग्रुप नूपुर के गिरफ़्तारी की मांग कर रहे है वही दूसरी तरफ कुछ नूपुर शर्मा के समर्थन में आगे भी आये है। 32 लोगो पर भड़काऊ बयान देने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने FIR दर्ज की है।

जानिए क्या है पूरा विवाद

वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद मामले पर हो रही टीवी डिबेट पर नूपुर शर्मा के टिप्पणी पर इस विवाद की शुरुवात हुई। 27 मई 2022 को नूपुर शर्मा ने आरोप लगाया की कुछ लोग हिन्दू धर्म का मजाक उड़ाते रहे है। अगर यह करना सही है तो में भी दुसरे धर्मों का मजाक उड़ा सकती हूँ। इसी के चलते नूपुर ने कुरान को लेकर पैगम्बर मोहम्मद के ऊपर विवादित टिपण्णी दी उसके बाद विवाद शुरू हो गया।

यह वीडियो वायरल होने के बाद BJP ने नूपुर शर्मा को सभी पदों से हटाते हुए इनकी सदस्यता को भी रद्द कर दिया गया। नूपुर शर्मा को अलग-अलग संगठनों तथा लोगो से धमकियाँ मिल रही थी जिसके चलते दिल्ली पुलिस ने उन्हें सुरक्षा प्रदान की।

नूपुर शर्मा: पैगम्बर मोहम्मद पर कथित विवादित टिप्पणी, मुस्लिम देशों का विरोध जानें पूरा सच

इस्लामिक देशों ने जताई आपत्ति

इस विवादित टिप्पणी पर इस्लामिक देशों ने आपत्ति जताई है। इनमे लगभग 15 देश शामिल है जैसे क़तर, इराक, ईरान, कुवैत, इंडोनेशिया, सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, मालदीव, ओमान, जॉर्डन, बहरीन, अफगानिस्तान और पाकिस्तान आदि है। यद्यपि भारत ने सभी देशों को क्लेअरीफिकेशन देते हुए कहा की यहाँ सभी धर्मों का बराबर सम्मान होता है, सभी को उनकी धार्मिक स्वंत्रता मिली हुई है।

आतंकी संगठन अलकायदा ने आतंकी हमले की दी धमकी

अलकायदा ने एक पत्र के जरिये यह धमकी दी है की वह UP, दिल्ली, मुंबई तथा गुजरात पर आत्मघाती हमला कर सकते हैं, उन्होंने यह भी कहा की पैगम्बर मोहम्मद का अपमान करने वालो को नहीं बख्सेंगे।

32 लोगो पर FIR दर्ज हुई

भड़काऊ बयानों को लेकर 32 लोगो पर दिल्ली पुलिस ने FIR दर्ज की है। 32 लोगो में ओवैसी, अब्दुल, गुलजार अंसारी जैसे लोग भी शामिल है

नीदरलैंड के सांसद गीर्ट बिल्डर्स, बीजेपी लीडर प्रज्ञा ठाकुर, पाकिस्तान मूल के लेखक तारिक फ़तेह, एक्ट्रेस कंगना रनौत आदि बड़ी हस्तियाँ नूपुर शर्मा का समर्थन कर रही है।

पुरे देश में हो रहे हिंसक प्रदर्शन

10 जून 2022 को जुमे के नमाज के बाद प्रयागराज में नूपुर शर्मा की गिरफ्तारी की मांग करते हुए हिंसा की गई और पुलिस पर पत्थरबाजी भी की गई। इससे पहले 3 जून को कानपूर में नमाज के बाद प्रदर्शनकरियों ने दंगे किये इसके दौरान लगभग 6 लोग घायल हुए। रांची में भी नूपुर शर्मा के खिलाफ प्रदर्शन किया गया तथा पुलिस पर भी पथराव किया।

nupur sharma statement

Leave a Reply

Your email address will not be published.